चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Nitiभाग 123

chanakya niti for motivation

611 : - संसार में निर्धन व्यक्ति का आना उसे दुखी करता है।
611 : - sansaar mein nirdhan vyakti ka aana use dukhee karata hai.
612 : - दानवीर ही सबसे बड़ा वीर है।
612 : - daanaveer hee sabase bada veer hai.
613 : - गुरु, देवता और ब्राह्मण में भक्ति ही भूषण है।
613 : - guru, devata aur braahman mein bhakti hee bhooshan hai.
614 : - विनय सबका आभूषण है।
614 : - vinay sabaka aabhooshan hai.
615 : - जो कुलीन न होकर भी विनीत है, वह श्रेष्ठ कुलीनों से भी बढ़कर है।
615 : - jo kuleen na hokar bhee vineet hai, vah shreshth kuleenon se bhee badhakar hai.

Also, Read
Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: