चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti भाग 122

chanakya niti for motivation

606 : - सत्य पर ही देवताओं का आशीर्वाद बरसता है।
606 : - saty par hee devataon ka aasheervaad barasata hai.
607 : - गुरुओं की आलोचना न करें।
607 : - guruon kee aalochana na karen.
608 : - दुष्टता नहीं अपनानी चाहिए।
608 : - dushtata nahin apanaanee chaahie.
609 : - झूठ से बड़ा कोई पाप नहीं।
609 : - jhooth se bada koee paap nahin.
610 : - दुष्ट व्यक्ति का कोई मित्र नहीं होता।
610 : - dusht vyakti ka koee mitr nahin hota.

Swami Vivekananda
Good Morning
Chanakya Niti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *